बेरोजगारी की शिकायत के लिए प्रधानमंत्री को पत्र

बेरोजगारी की शिकायत के लिए प्रधानमंत्री को पत्र:- हमारें समाज में ऐसी कई समस्याएँ है, जिन्हें सुलझाने के लिए कईं बार प्रधानमंत्री की सहायता की आवश्यकता पड़ती है, जैसे:- बेरोजगारी।

बेरोजगारी भारत देश की एक गम्भीर समस्या है। इसके लिए कईं कारक जिम्मेदार है। कई बार तो अच्छी शिक्षा और डिग्री होने के बावजूद देश के युवाओं को अच्छी नौकरी नही मिल पाती है।

ऐसे में एक प्रधानमंत्री ही है, जो कि इस समस्या का समाधान निकाल सकते है। लेकिन प्रधानमंत्री हर किसी से नही मिल सकते है। ऐसी स्थिति में आप उन्हें पत्र द्वारा अपनी परेशानी या शिकायत लिखकर बता सकते है।

लेकिन समस्या यह होती है कि पत्र का स्वरूप कैसे लिखें? और प्रधानमंत्री का पता क्या है? आदि। तो चलिए बात करते है कि प्रधानमंत्री को बेरोजगारी के लिए शिकायत पत्र कैसे लिखें?

भारत के प्रधानमंत्री को शिकायत पत्र भेजने का पता/एड्रेस

प्रधानमंत्री कार्यालय,

साउथ ब्लॉक, रायसीना हिल,

नई दिल्ली- 110011,

भारत,

बेरोजगारी की शिकायत के लिए प्रधानमंत्री को पत्र : Letter to Prime Minister in Hindi For Unemployment

सेवा में,

माननीय प्रधानमंत्री जी,

प्रधानमंत्री कार्यालय,

साउथ ब्लॉक, रायसीना हिल,

नई दिल्ली।

विषय: बेरोजगारी की शिकायत के संबंध में।

श्रीमान जी,

मेरा नाम आकाश तिवारी है। मैं इंदिरा नगर, लखनऊ का निवासी हूँ। मेरी उम्र 28 वर्ष है और मैं 4 वर्ष पहले परास्नातक/स्नातकोत्तर (Post Graduation) किया था।

मैंने 1 वर्ष एक निजी कंपनी में काम किया। लेकिन, मंदी के कारण मुझे वहां से निकाल दिया गया। अब पिछले 2 वर्षों से मैं बेरोज़गार हूँ। यह हालत सिर्फ मेरी ही नहीं है, बल्कि मेरी जान-पहचान के कईं युवाओं की भी है।

एक रिपोर्ट के अनुसार सन 2017 के बाद से स्न्नातक (Graduate) बेरोजगारों की संख्या में काफी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई।

2017 में स्न्नातक (Graduation) और परास्नातक/स्नातकोत्तर (Post Graduation) करने वालों में बेरोज़गारी दर 12.3 फीसदी थी। जबकि, दिसंबर 2018 में यह आंकड़ा 13.4 फीसदी हो गया है।

मैं उन सभी बेरोज़गार युवाओं की तरफ से आपका ध्यान इस समस्या की तरफ आकृष्ट करना चाहता हूँ। हालांकि, वर्तमान में सरकार इस बात पर अधिक बल दे रही है कि देश के सभी युवक स्वावलंबी बनें।

सरकार पूरा प्रयास कर रही है कि युवा केवल सरकारी सेवाओं पर ही आश्रित न रहें। बल्कि, स्वरोजगार हेतु प्रयास करें।

लेकिन, अभी भी जनता और सरकार दोनों को कुछ अतिरिक्त प्रयास करने की आवश्यकता है। ताकि, देश की प्रगति, शांति और स्थिरता को बल प्राप्त हो।

मुझे आशा है कि आप मेरी इस शिकायत पर अवश्य गौर करेंगे और इस समस्या को दूर करने के प्रभावकारी मार्ग सुझाएंगे।

मुझे पूरी उम्मीद है कि आने वाले समय में आपके मार्गदर्शन से हमारा देश नई ऊँचाइयों को छुएगा। मेरी इस शिकायत पर ध्यान देने के लिए मैं हमेशा आपका आभारी रहूँगा।

धन्यवाद!

नाम:- आकाश तिवारी

पता:- इंदिरा नगर, लखनऊ

पिन कोड:- 226016

मोबाइल नंबर:- 8785985698

देश के प्रधानमंत्री तक आप अपनी बात या शिकायत ऑनलाइन पत्र लिखकर भी कर सकते है।

इसके लिए आपको https://www.pmindia.gov.in/hi/ वेबसाइट पर जाकर रजिस्टर करना होगा। जिसके बाद आप सीधे प्रधानमंत्री को संदेश भेज सकते है। यह उनकी आधिकारिक वेबसाइट है।

नोट: यह पत्र सिर्फ एक नमूना है। आप अपनी समस्या के आधार पर इस पत्र को संशोधित कर सकते है।

अंतिम शब्द

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ फेसबुक पर साझा अवश्य करें और हमारे वेबसाइट को सबस्क्राइब कर ले।

Leave a Comment