शहर में बड़ते प्रदूषण पर दैनिक समाचार पत्र के संपादक को पत्र l

आजकल प्रदूषण की समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है लोग शहरों में होकर भी जागरूक नहीं है आज के इस लेख में हम इसी टॉपिक पर बात करेंगे और हम इस समस्या पर लेख दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित करेंगे ।

जिससे कि प्रशासन की नजर इस मुद्दे पर पड़े और जल्द से जल्द इस समस्या का समाधान हो तो अगर आपके शहर में भी प्रदूषण काफी बढ़ चुका है और आप अपनी ओर से कुछ करना चाहते हैं

तो आप दैनिक समाचार पत्र के संस्थापक को एक पत्र लिखकर इस मुद्दे को उठा सकते हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक यह बात पहुंच सके और लोग जागरूक हो सके ।

शहर में बड़ते प्रदूषण पर दैनिक समाचार पत्र के संपादक को पत्र

सेवा में ,

श्रीमान संपादक महोदय

प्रेम नगर , किशनगंज , नई दिल्ली

 

विषय : बढ़ते प्रदूषण पर दैनिक समाचार पत्र के संपादक को पत्र l

महाशय

सविनय निवेदन यह है कि मैं प्रेम नगर काहे का स्थानीय निवासी हूं । दरअसल मैं इस पत्र के माध्यम से आपको यह बताना चाहता हूं कि हमारे क्षेत्र में इतना प्रदूषण बढ़ते जा रहा है कि इसे नियंत्रण में लाना मुश्किल साबित होगी । कृपया इस पर एक दृष्टि डालें और इसे सुलझाने का प्रयत्न करें ‌।

दरअसल अगर आप बढ़ते प्रदूषण पर अपने विचार को समाचार पत्रिका पर व्यक्त करेंगे , तब सभी लोगों की नजरें इन पर टिकेगी और इन्हें पढ़कर लोग जागरूक बनेंगे । और बढ़ते हुए प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए आगे आएंगे ।

इसलिए मैं आपको इस पत्र के माध्यम से यह सूचित कर रहा हूं । हम लोगों को‌ इस विषय पर गंभीर चर्चा करनी चाहिए । प्रदूषण एक विश्वस्तरीय मुद्दा है । दुनिया के बड़े-बड़े शहरों में प्रदूषण एक बीमारी की तरह उस शहर को जकड़े हुए हैं । लोगों का जीवन संकट में आ गया है ।

इस संबंध में निम्नलिखित सुझाव विचारणीय है

  • शहर की स्वच्छता के लिए एक स्वच्छता सप्ताह घोषित किया जाए और पूरे शहर में इसका व्यापक प्रचार किया जाए ।
  • प्रत्येक वार्ड में एक सफाई अभियान समिति गठित की जाए जिसमें संबंधित पार्षद दो अन्य सदस्य ( एक स्त्री और एक पुरुष )  एवं उस वार्ड में सफाई के लिए निगम के कर्मचारी सम्मिलित किए जाएं ।
  • सफाई की दृष्टि से श्रेष्ठ एव समय पर कार्य करने वाले स्वयं सेवकों एवं कर्मचारियों का सार्वजनिक अभिनंदन किया जाए ।
  • भविष्य में फिर से गंदगी इकट्ठी ना हो सके इसके लिए आवश्यक साधन उपलब्ध करवाए जाएं

मुझे विश्वास है कि नगर निगम इन सुझावों पर शीघ्र विचार कर नगर वासियों में सफाई के प्रति चेतना जागृत करने एवं गंदगी और प्रदूषण को दूर करने के लिए ठोस एवं अभिलंब कदम उठाएगा तथा जनता का सकारात्मक सहयोग प्राप्त करेगा और नगर निगम प्रशासन के विरुद्ध आंदोलन छेड़ने के लिए विवश नहीं करेगा

धन्यवाद ।
अनमोल शर्मा
स्थानीय वासी ।

ये पढ़े :

आशा है दोस्तो की इस पत्र को पढ़ने के बाद आपकी “प्रदुसान पर दैनिक समाचार पत्र के संपादक को पत्र “, की समस्या दूर हो चुकी होगी । यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो हमे कमेंट कर के जरूर बताएं और आप इसे अपने Social Media Sites पर Share ज़रूर करें l

अगर आप भविष्य में भी ऐसी जानकारी लेना चाहते हैं तो आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें और साथ के साथ आप हमारे इंस्टाग्राम पेज और  फेसबुक पेज को लाइक करें जिससे आपको हमारे आने वाली हर पोस्ट की अपडेट समय से मिलती रहे और अगर आपको ऐसे ही किसी पत्र को लिखने में दिक्कत हो रही तो हमे कमेंट करे हम आपकी सहायता जरूर करेंगे।

Leave a Comment